05 November 2015


  • before lajba song lines---

  • कहते हैं 
  • हर action का एक reaction जरूर होता है 
  • चोट लगती है 
  • तो हाँ 
  • मन भी जरूर रोता है 

  • जन्म देने वाली माँ से 
  • बताइए अब  मैं  क्या करती सवाल 
  • कि  टिफ़िन बन का बन गया 
  • और मेरे आज भी खुले  रह गए बाल 
  • हर बार 
  • हर बार मेरी आँखें 
  • बस  करती रह गयी इंतज़ार 
  • मेरे सामने 
  • मेर हिस्से का 
  • कोई ज्यादा ले गया प्यार

  • तब समझा मैंने
  • कि ज़िन्दगी नहीं कोई maths
  • जहाँ दो और दो 
  • हमेशा होते हो चार
  • पर सुना था 
  • कि  रात हो जाये 
  • जब जयदा गहरी और काली
  • बस  समझ लो कि 
  • सुबह होने ही है वाली

  • क्योंकि लोग अक्सर जाते हैं भूल
  • जब आईने से हटती है धुल
  • हर चीज़ साफ़ नज़र आती है
  • जो हमको ये दिखाती है
  • कि  देखो 
  • अंतर कोई भी
  • ईश्वर नहीं बनाता
  • आँखों पर रख लो हाथ
  • तो सूरज भी नज़र नहीं आता
  • पर रौशनी को बताओ
  • कोई है रोक पाया 
  • जब जब मिला मौका
  • हर बेटी ने ये साबित कर दिखाया  
  • कि है जज्बा मुझ में लड़ने का
  • है जज्बा उसमे आगे बढ़ने का
  • है जज्बा की वो खुद को दे पहचान 
  • बस  इस सच को
  • अब
  • सब ले मान 
  • अब सब ले मान




No comments: